Essential oil क्या होता है | What is Essential oil in Hindi

Spread the love

Essential oil जिसके बारे में हम Soap, Body lotion, Hair oil जैसे कई product के ingredients में पढ़ते हैं और कई advertisement में भी इस शब्द को सुनते है लेकिन यह दरअसल होता क्या है यह हमें पता नहीं होता। हम यह भी जानते हैं कि Essential oils हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत फायदेमंद हैं। लेकिन Essential oils क्‍या है यह बहुत ही कम लोगों को पता होता है।

essential oil meaning in hindi,essential oil kya hai,essential oil hindi

Essential के शब्द से ही तात्पर्य है Essence यानि सत्व।Essential oil पौधों से प्राप्‍त अर्क होता है कह सकते है पौधो से प्राप्त एक निचोड़ होता है जो सुगंध या स्वाद के रूप में हो सकता है। जिन्‍हें अलग-अलग निष्‍कर्षण विधियों द्वारा प्राप्‍त किया जाता है।Essential oil प्राप्ति के आधार पर पौधों के अलग-अलग हिस्‍सों का उपयोग किया जा सकता है। आमतौर पर सबसे ज्‍यादा और सुगंधित तेल प्राप्‍त करने के लिए पौधों के फूलों का उपयोग किया जाता है। लेकिन फूलों के अलावा भी अन्‍य हिस्‍से जैसे पत्तियां, छाल, जड़ों, फलों कि छिल्‍के आदि का भी उपयोग किया जाता है।

Essential oils को इसलिए फायदेमंद माने जाते हैं क्‍योंकि ये आमतौर पर जड़ी-बूटीयों के मुकाबले 75 प्रतिशत अधिक शक्तिशाली और प्रभावी होते हैं।यह एक प्रकार से फूल और पौधो के गुणों का सत्व ही होता है इसलिए Essential oil पूर्ण रूप से प्राकृतिक उत्‍पाद होता है इसलिए ऐसा माना जाता है कि यह बहुत अधिक प्रभावी होता है। यदि सावधानी से उपयोग न किया जाए तो इसके दुष्‍प्रभाव भी होते हैं क्‍योंकि ये बहुत ही शक्तिशाली होते हैं।

Essential oil कैसे बनता है

Essential oils को बनाने में भारी मात्रा में पौधों की सामग्री लगती है, जो उनमें से कुछ को महंगा बना सकती है। उदाहरण के लिए:
लगभग 250 किलो लैवेंडर के फूल से 1 किलो लैवेंडर Essential oil बनाता है।
लगभग 1000 किलो गुलाब की पंखुड़ियों से 1 किलो गुलाब Essential oil बनाते हैं।

Essential oil को तीन विधियों द्वारा तैयार किया जाता है।

आसवन द्वारा(Distillation of essential oils)

लैवेंडर, पेपरमिंट, टी ट्री ऑयल, पचौली और यूकेलिप्टस जैसे अधिकांश सामान्य Essential oils आसवन द्वारा बने होते है। कच्चे पौधे की सामग्री, जिसमें फूल, पत्ते, लकड़ी, छाल, जड़, बीज या छिलके शामिल होते हैं, को पानी के ऊपर एक एलेम्बिक (आसवन उपकरण) में डाल दिया जाता है।जैसे ही पानी गरम किया जाता है, तो इसमें भाप बनती है जो पौधे के पदार्थ को भी वाष्पशील यौगिकों में वाष्पीकृत करते हुए, संयंत्र सामग्री से होकर गुजरता है।वाष्प एक नली के माध्यम से बहती हैं, जहां वे वापस तरल में संघनित होती हैं, जिसे बाद में प्राप्त करने वाले बर्तन में एकत्र किया जाता है।

आसवन,essential oil distillation method in hindi,aaswan essential oil,
Distillation of essential oils

अधिकांश तेल एक ही प्रक्रिया में आसवित हो जाते हैं। पर एक अपवाद Ylang-Ylang (कैनंगा गंध) है जिसे एक भिन्नात्मक आसवन के माध्यम से शुद्ध किया जाता है।

पुन: इस संघनित पानी को हाइड्रोसोल, हाइड्रोलैट, हर्बल डिस्टिलेट या प्लांट वॉटर एसेंस के रूप में संदर्भित किया जाता है, जिसे एक अन्य सुगंधित उत्पाद के रूप में बेचा जा सकता है।हाइड्रोसोल्स में गुलाब जल, लैवेंडर वाटर, लेमन बाम, क्लैरी सेज और ऑरेंज ब्लॉसम वॉटर शामिल हैं। सौंदर्य प्रसाधनों में हर्बल डिस्टिलेट का उपयोग बढ़ रहा है।

Expression द्वारा निचोड़कर

Cold-Pressed-Method-Expression-Method-of-Essential-Oil-expression,essential oil expression method in hindi,essential oil cold press method
Expression

अधिकांश खट्टे फलों के छिलके के तेल मशीनों से या कोल्ड-प्रेस्ड द्वारा प्राप्त किये जाते हैं।खट्टे छिलके में अपेक्षाकृत बड़ी मात्रा में तेल और कच्चे माल को उगाने और काटने की कम लागत के कारण, खट्टे-फलों के तेल अन्य Essential oils की तुलना में सस्ते होते हैं।नींबू या मीठे संतरे का तेल साइट्रस उद्योग के उपोत्पाद के रूप में प्राप्त किया जाता है।आसवन की खोज से पहले, सभी Essential oils को मशीनों से दबाकर निकाला जाता था।

Solvent extraction द्वारा

अधिकांश फूलों में पूरी प्रोसेस से गुजरने के लिए बहुत कम वाष्पशील तेल होता है, लेकिन उनके रासायनिक घटक बहुत नाजुक होते हैं और भाप आसवन में उपयोग की जाने वाली उच्च गर्मी से आसानी से विकृत हो जाते हैं।इसके बजाय, तेल निकालने के लिए हेक्सेन या सुपरक्रिटिकल कार्बन डाइऑक्साइड जैसे विलायक का उपयोग किया जाता है।हेक्सेन और अन्य हाइड्रोफोबिक सॉल्वैंट्स के अर्क को कंक्रीट कहा जाता है, जो Essential oil, मोम, रेजिन और अन्य लिपोफिलिक (तेल में घुलनशील) पौधे सामग्री का मिश्रण होता है।

solvent-extraction-method-of-essential-oils,solvent extraction method hindi
Solvent extraction

हालांकि अत्यधिक सुगंधित, कंक्रीट में बड़ी मात्रा में गैर-सुगंधित मोम और रेजिन होते हैं।कंक्रीट से सुगंधित तेल निकालने के लिए अक्सर एक अन्य विलायक, जैसे एथिल अल्कोहल का उपयोग किया जाता है।अल्कोहल के घोल को -18 °C (0 °F) तक 48 घंटे से अधिक समय तक ठंडा किया जाता है, जिससे मोम और लिपिड बाहर निकल जाते हैं।फिर अवक्षेप को फ़िल्टर किया जाता है और इथेनॉल को शेष घोल से वाष्पीकरण, वैक्यूम पर्ज या दोनों द्वारा हटा दिया जाता है, निरपेक्ष को पीछे छोड़ देता है।

सुपरक्रिटिकल कार्बन डाइऑक्साइड का उपयोग सुपरक्रिटिकल द्रव निष्कर्षण में विलायक के रूप में किया जाता है।जब भाप आसवन का उपयोग किया जाता है तो यह विधि उत्पाद में पेट्रोकेमिकल अवशेषों और कुछ “शीर्ष नोट्स” के नुकसान से बच सकती है।यह आपको एक बार में परिणाम नहीं देता है। सुपरक्रिटिकल कार्बन डाइऑक्साइड कंक्रीट बनाने वाले मोम और आवश्यक तेल दोनों को निकाल देगा।

तरल कार्बन डाइऑक्साइड के साथ बाद में प्रसंस्करण, केवल निष्कर्षण तापमान को कम करके एक ही निकालने वाले में प्राप्त किया जाता है, मोम को आवश्यक तेलों से अलग कर देगा।यह कम तापमान प्रक्रिया यौगिकों के अपघटन और विकृतीकरण को रोकती है। जब निष्कर्षण पूरा हो जाता है, तो दबाव परिवेश में कम हो जाता है और कार्बन डाइऑक्साइड गैस में वापस आ जाता है, कोई अवशेष नहीं छोड़ता है।

लोकप्रिय Essential oils के नाम

100 से अधिक प्रकार के एसेंशियल आयल हैं, जिनमें से प्रत्येक की अपनी अनूठी गंध और संभावित स्वास्थ्य लाभ हैं।

यहां 10 लोकप्रिय Essential oils के नाम है जिन्हे आपने अक्सर कही पढ़ा होगा।

  • Peppermint
  • Lavender
  • Sandalwood
  • Ylang-Ylang
  • Tea Tree
  • Cedarwood
  • Chamomile
  • Eucalyptus
  • Lemon
  • Rosemary 

आमतौर पर उपयोग किए जाने वाले 100 से अधिक आवश्यक तेल होते हैं हर Essential oil का स्वस्थ्य की दृष्टि से अपना अलग फायदा है। कई बार दो या दो से अधिक एसेंशियल आयल को मिलाकर अलग सुगंध और उपयोग मनाया जाता है।

Essential oil के फायदे

यहां कुछ सामान्य स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज करने के लिए Essential oils और अरोमाथेरेपी का उपयोग किया गया है।जो सामान्य रूप से हर एसेंशियल आयल के लिए शामिल है।

तनाव और चिंता को दूर करे(Stress and anxiety)

कई बार जब हम थके होते है तो कोई विशेष सुगंध के आने पर हम सचेत हो जाते है की इतनी अच्छी खुशबु कहा से आ रही है। यह सुगंध हमारे मूड को बेहतर कर देती है। इसलिए अरोमाथेरैपी में इसका उपयोग किया गया है। मालिश में भी इनका उपयोग किया जाता है इनकी सुगंध से मन को काफी आराम मिलता है।

सिरदर्द और माइग्रेन में

हमने कई बाम और पैन रिलीवर में Peppermint Essential oil और Thyme Essential oil के बारे में पड़ा है। यह सर दर्द की समस्या में बहुत फायदेमंद होता है। आज कल इनका आयुर्वेदिक प्रोडक्ट्स में बहुत उपयोग होता है।

अनिंद्रा की समस्या में(Sleep and insomnia)

Lavender Essential oil और Eucalyptus Essential oil का इस्तेमाल रात को सोते वक्त Aroma Diffuser या Bed Sheet पर करने पर अच्छी नींद लाने में फायदेमंद साबित हुआ है।Mosquito repellent में भी एसेंशियल आयल का use होने लगा है।

सूजन कम करे(Reducing inflammation)

Rosemary Essential oil और Peppermint oil तथा Thyme oil ,Clove oil जैसे Essential oil का उपयोग हर प्रकार के pain relief gel और spray में होता है।जो सूजन को कम करने में मदद करता है।

रोगाणुरोधी(Antibiotic and antimicrobial)

Peppermint oil और Tea tree essential oil का इस्तेमाल फंगल इन्फेक्शन ,खुजली आदि के लिए जो उत्पाद होते है उनके क्रीम और लोशन में इनका प्रयोग होता है। इसके अलावा Carrier oil के साथ भी इसका उपयोग किया जाता है।

Cooler Perfume के रूप में

गर्मी के दिनों में हम कूलर के लिए बाजार से परफ्यूम खरीदते है उससे बेहतर विकल्प Essential oils का इस्तेमाल होता है। क्योंकि यह प्राकृतिक फूलो से बना होता है जिसकी कुछ बुँदे एयर कूलर के पानी में डालने पर पुरे घर को तारो तजा कर देती है।

कपड़ो को महकाये

चाहे अलमारी में कपडे हो या वाशिंग मशीन के ड्रायर में।Essential oil की कुछ बुँदे आप अपने ड्रायर या अलमारी में स्प्रे कर दे जिससे पूरी wardrobe खुशबु से महकेंगी।

मच्छरों को दूर करे

कुछ Essential oil की सुगंध जैसे Citronella essential oil का उपयोग मच्छरों को आपसे दूर करता है। इसलिए इसका उपयोग ओडोमॉस और दुसरे mosquito repellent के रूप में होता है।

सही Essential oils कैसे चुने

उच्च गुणवत्ता वाले Essential oil केवल आसवन या ठंडे दबाव द्वारा निकाले गए शुद्ध पौधों के यौगिकों का उपयोग करते हैं। उन तेलों से बचें जो सिंथेटिक सुगंध, रसायनों या तेलों को मिलकर बनाये जाते है। क्योंकि यह बाजार में सस्ती कीमत पर मिल जाते है।इसके अलावा ऑनलाइन खरीदने पर Reviews को ठीक से पढ़े और सेलर को भी देखे।

Essential oils से सुरक्षा और दुष्प्रभाव(Side effects)

Essential oils प्राकृतिक है इसका मतलब यह सुरक्षित है ऐसा नहीं।पौधों और हर्बल उत्पादों में कई बायोएक्टिव यौगिक होते हैं जो आपके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकते हैं, और आवश्यक तेल अलग नहीं हैं।हालांकि, जब आपकी त्वचा पर उपयोग के लिए साँस में लिया जाता है या Carrier oil के साथ मिलाया जाता है, तो अधिकांश Essentials oils को सुरक्षित माना जाता है। अपने वातावरण में दूसरों पर विचार कीजिये जो गर्भवती महिलाओं, बच्चों और पालतू जानवरों सहित सुगंध को सांस ले रहे हों ,क्या उन्हें कोई समस्या तो नहीं हो रही है ।जबकि सबसे आम दुष्प्रभाव त्वचा पर दाने है, Essential oil अधिक गंभीर प्रतिक्रियाएं पैदा कर सकते हैं, और वे मृत्यु के एक मामले से जुड़े हुए हैं।

आमतौर पर प्रतिकूल प्रतिक्रियाओं से जुड़े तेल लैवेंडर, पेपरमिंट, टी ट्री और Ylang-Ylang हैं।जिन तेलों में फिनोल की मात्रा अधिक होती है, जैसे कि दालचीनी,लौंग त्वचा में जलन पैदा कर सकते है और इसे बेस ऑयल के साथ मिलाए बिना त्वचा पर इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। इस बीच, खट्टे फलों से बने Essential oil धूप के प्रति त्वचा की प्रतिक्रिया को बढ़ाते हैं जिससे जलन हो सकती है।Essential oils को निगलने या खाने की सिफारिश नहीं की जाती है, क्योंकि ऐसा करना हानिकारक हो सकता है और कुछ खुराक में घातक हो सकता है।

बहुत कम अध्ययनों ने गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए इन Essential oils की सुरक्षा की जांच की है, जिन्हें आमतौर पर इनसे बचने की सलाह दी जाती है।

सलाह

अंत में यही कहना चाहेंगे की Essential oils को आम तौर पर श्वास लेने या त्वचा पर लागू करने के लिए सुरक्षित माना जाता है यदि उन्हें आधार तेल के साथ मिलाया गया हो। इन्हें नहीं खाना चाहिए।हालांकि, यदि आपकी कोई गंभीर स्वास्थ्य स्थिति है या आप दवा ले रहे हैं, तो आपको अपने डॉक्टर के साथ उनके उपयोग के बारे में चर्चा करनी चाहिए।बिना सलाह के इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। Essential oils का उपयोग करने से पहले इसका एक पेच टेस्ट कर लेना चाहिए।