कुंभ राशि के व्यक्ति का स्वभाव और उपयोगी बातें – Aquarius zodiac sign personality in hindi

Spread the love

कुंभ राशि के व्यक्ति का स्वभाव: कुंभ राशि राशियों में 11 स्थान की राशि है। काल पुरुष की कुंडली में इसका स्थान 11 भाव है। कुंभ राशि का प्रतीक एक घड़े के सामान जिसमे से पानी बह रहा है। कुंभ राशि के जातको को भी जीवन में बहने के लिए जीवन में स्किल अर्जित करना आवश्यक है।इनके पास प्रचुर मात्रा में ज्ञान है एयर यह ज्ञान दुसरो को बाट सकते है।यह ज्ञान और दया से भरपूर होते है ।

यह बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते है। किसी भी चीज को अच्छे से जानना चाहते है।अपने विचारो को संचार करना चाहते है।लोगो के लिए कुछ करने का मन बनाते है।इस राशि के लोग मानवतावादी होते है जान साधारण की भलाई के लिए कार्य करना चाहते है।

कुंभ राशि के व्यक्ति का स्वभाव, Aquarius zodiac sign personality in hindi

कुंभ राशि के व्यक्ति का स्वभाव

  • कुंभ राशि के जातक प्रायः चंचल स्वाभाव के होते है इनमे अक्सर अस्थिरता देखि गयी है तथा यह कल्पनावादी होते है।
  • इनके स्वाभाव में किसी का अहित न करना तथा शर्मीले स्वाभाव का होना शामिल है।
  • यह कम बोलने वाले, शांत और गंभीर ,मृदुलभाषी होते है।
  • इनकी दिनचर्या काफी इस राशि के लोग मानवीय दृष्टिकोण और प्रगतिशील जीवन और उसकी समस्याओं के प्रति स्वस्थ दृष्टिकोण रखते हैं।
  • यह संकोची होते हैं निर्णय लेने से पूर्व पूर्ण नापतौल करते हैं या अन्य लोगों द्वारा कार्यारम्भ करने तक प्रतीक्षा करते हैं।
  • सदा सकतर्कता, धैर्य, एकाग्रता, अध्ययनशीलता से युक्त रहते हैं।
  • वार्तालाप रूचिकर होता है।
  • स्पष्टवादी, सबके प्रिय होते हैं।
  • दयालु, अध्ययन प्रेमी और सज्जन होते हैं।
  • अतीन्द्रिय शक्ति से युक्त होते हैं, ध्यान-साधना में रूचि होती है।
  • स्मरणशक्ति तीव्र, दृष्टिकोण वैज्ञानिक होता है।गरीबों के सेवक होते हैं।
  • नवीन तकनीक और मशीनरी, अनुसंधान, निवेश आदि द्वारा धनार्जन करते हैं।
  • तकनीकी शिक्षा में रूचि होती है। परिवार से लगाव होता है।
  • जीवनसाथी के चुनाव में आयु को अनदेखी कर बृद्धि और शिक्षा में समानता पर जोर देते हैं।
  • गृह सुसज्जित होता है जिसमें आधुनिक ढंग से पुरातात्विक सामग्री एकत्रित रहती है।
  • अपने प्रेम को अभिव्यक्त नहीं करते। अगर इनका प्रेमी वासनाप्रिय हो तो वह असंतुष्ट होता है।
  • क्योंकि कुंभ राशि के व्यक्ति शीतल होते हैं।

शारीरिक संरचना: इनमे मध्यम कद, हृष्ट-पुष्ट चेहरा सुंदर और गोल, गाल भरे हुए कनपटियां और जांघे विकसित होती हैं। गोरा रंग, भूरे बाल, असुंदर दांत, पिंडलियों में मस्सा, बाल काले घने ,गाल पर डिंपल और पैर मोटे, नसें विकसित होती हैं।

कुंभ राशि का चिन्ह: घड़ा होता है।

कुंभ राशि का स्‍वामी: शनि देव होते है।

कुंभ राशि तत्व:  वायु तत्व राशि है और यह स्थिर राशि है।

कुंभ राशि के इष्ट देवता:  शिव जी कुंभ राशि के इष्ट देवता होते है।

कुंभ राशि का रंग: काला और नीला और हरे-नीले से से युक्त होता है।

कुंभ राशि का व्यवसाय: कुंभ राशि वाले अक्सर नवीन तकनीक और मशीनरी, अनुसंधान, निवेश आदि द्वारा धनार्जन करते हैं। तकनीकी शिक्षा में रूचि होती है।

कुंभ राशि का व्यवसाय लोहा संबन्धित कार्य , मशीनरी के कार्य , केमिकल प्रोडक्ट , ज्वलनशील तेल ( पैट्रोल, डीजल आदि ) ,अनुसंधान कार्य , ज्योतिष कार्य , लोहे से संबंधित कच्ची धातु , कोयला , चमड़े का काम , जूते , अधिक श्रम वाला कार्य , नौकरी , मजदूरी , ठेकेदारी , दस्तकारी , मरम्मत के कार्य , लकड़ी का कार्य , मोटा अनाज , प्लास्टिक एवम रबर उद्योग , काले पदार्थ , स्पेयर पार्ट्स , भवन निर्माण सामग्री , पत्थर एवम चिप्स , ईट , शीशा ,टाइल्स , श्रम एवम समाज कल्याण विभाग , टायर उद्योग , कबाड़ी का काम, तेल निकालना , पी डब्लू डी , सड़क निर्माण , सीमेंट आदि रोजगार के लिए देखे जाते है।

कुंभ राशि के संभावित रोग: संक्रामक रोग, दंत व्याधि, टान्सिल आदि देखे गए है।

कुंभ राशि में उच्च ,नीच और मूल ग्रह: कुंभ शनि की मूल राशि है। कुम्भ में कोई गृह उच्च नीच का नहीं होता है।

कुंभ राशि के लिए मंत्र: ॐ श्रीं उपेन्द्राय अच्युताय नमः

कुंभ राशि के लिए धातु: लोहा मूल धातु मानि गयी है।

कुंभ राशि के लिए रत्न:  नीलम मूल रत्न मन गया है।

कुंभ राशि के लिए रुद्राक्ष: सात मुखी रुद्राक्ष को धारण करने के बारे में बताया गया है।

कुंभ राशि की दिशा: पश्चिम दिशा 

कुंभ राशि मित्र राशियाँ: मकर ,वृषभ ,तुला ,कन्या ,मिथुन

कुंभ राशि शत्रु राशियाँ: मेष ,कर्क ,सिंह ,वृश्चिक

कुंभ राशि नाम अक्षर: गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा से शुरू होते है।

यह भी देखिये :